Breaking News
Home / Ajab Gajab / 7 साल के बच्चे ने पिता की लाश से उठाया चादर और रोते-रोते कहा सिर्फ एक शब्द, सुनकर आपका कलेजा भी फट जायेगा

7 साल के बच्चे ने पिता की लाश से उठाया चादर और रोते-रोते कहा सिर्फ एक शब्द, सुनकर आपका कलेजा भी फट जायेगा

उस सात साल के बच्चे के सामने उसके पिता की लाश पड़ी थी, सफ़ेद चादर में लिपटी हुई. बच्चे को समझ नहीं आ रहा था कि जिस पापा के साथ वो रोज़ स्कूल जाता था, शाम को हंसी-ठिठोली किया करता था वो इस तरह से एकदम खामोश क्यों हो गए हैं. आंसू भरी निगाहों से वो सिर्फ अपने पिता को देख रहा था और उम्मीद कर रहा था कि पापा जल्दी से उठ जायें तो रोज़ की ही तरह हम हंसी-ठिठोली करें, लकिन काफी समय बीत जाने के बाद भी उसके पिता नहीं उठे.

लोगों ने बच्चे को समझाया कि अब उसके पिता कभी उठेंगे भी नहीं. वो इस दुनिया को छोड़कर जा चुके हैं. इतना सुनते ही उस मासूम की आँखों से झरने की तरह पानी बहने लगा. उसे यकीन नहीं हो रहा था कि जो बात लोग उसके पिता के बारे में कह रहे हैं वो सच है. इसी सच-झूठ को परखने के लिए वो नन्हा बच्चा पिता के शव के पास पहुंचा, पिता के चेहरे से चादर हटाया और रोते हुए उन्हें आवाज़ दी “पापा”. जब उसे इसका जवाब नहीं मिला तो उसे भी यकीन हो गया कि लोग ही सही कह रहे हैं उसके पापा दूसरी दुनिया में जा चुके हैं.

वायरल होती नन्हे मासूम की उसके पिता के साथ आखिरी तस्वीर

बाप-बेटे की ये मार्मिक तस्वीर काफी वायरल हो रही है. जानकारी के लिए बता दें कि यहाँ जिस मृत शख्स की बात हो रही है वो दरअसल दिल्ली में जल बोर्ड के सीवर की सफाई करने वाले अनिल नाम के सफाईकर्मी थे जिनकी शुक्रवार को सीवर सफाई के दौरान ही मौत हो गई थी. अनिल की मौत से उसका परिवार पूरी तरह टूट गया है.

मामला सामने आने के बाद पता चला कि अनिल परिवार में अकेला कमाने वाला था, उसके जाने के बाद परिवार पर दुख का पहाड़ टूट गया है. सिर्फ इतना ही नहीं अनिल की मौत के 6 दिन पहले ही निमोनिया से अनिल के चार महीने के बच्चे की भी मौत हो गई थी. ऐसे में 6 दिन के अंदर परिवार को दो-दो लोगों को खोने का गम परिवारवालों को खाये जा रहा है. अनिल के परिवार में उसकी पत्नी,11 साल, 7 साल और 3 साल के तीन बच्चे हैं.

सीवर सफाईकर्मी अनिल

इस तस्वीर के वायरल होते ही अनिल के परिवार के लिए मदद के लिए काफी सारे लोग आगे आए. आपको जानकर ख़ुशी और हैरानी होगी कि कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर अनिल के लिए अभियान चलाकर उनके परिवार के लिए 16 लाख रुपये इकट्ठा कर लिए हैं. महज कुछ घंटों में फिल्म सितारों से लेकर आम आदमी तक ने अनिल के परिवार को मदद के लिए अपनी इच्छानुसार मदद की. इसमें कुछ लोगों ने निजी तौर पर धन राशि दी, वहीं काफी लोगों ने क्राउड फंडिग प्लेटफार्म केट्टो के माध्यम से मदद दी.

एक एनजीओ के संस्थापक राहुल वर्मा ने सबसे पहले इस नेक काम की पहल की जिसके बाद लोग इस मुहीम से जुड़ते चले गए. केट्टो पर 16 दिनों में 24 लाख जुटाने का लक्ष्य रखा गया था, पर वहां महज 4 घंटे में 10.4 लाख रुपये की राशि जुटा ली गई. इनमें 500 लोगों ने 15 रुपये से 50 हजार तक की राशि दान की. इन रुपयों के मिलने के बाद अनिल की पत्नी ने कहा कि वो लोगों की मदद से काफी खुश हैं और वो इस पैसे का इस्तेमाल अपने बच्चों की पढ़ाई में करेंगी ताकि उन्हें एक बेहतर भविष्य मिल सके.

News Source: Dainik Bhaskar