Breaking News
Home / Interesting / अपनी आत्मकथा में गांधी जी ने किया था बड़ा खुलासा, कहा “जब मेरे पिता मर रहे थे तब मैं पत्नी के साथ यौन संबंध…”

अपनी आत्मकथा में गांधी जी ने किया था बड़ा खुलासा, कहा “जब मेरे पिता मर रहे थे तब मैं पत्नी के साथ यौन संबंध…”

मोहनदास करम चंद गांधी, जिन्हें आप महात्मा गांधी के नाम से भी जानते हैं, भातर के राष्ट्रपिता हैं. भारत को स्वतंत्र कराने में गांधी जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है. गांधी जी इस देश के लिए क्या मायने रखते हैं, इस बात को हम शब्दों में बयान नहीं कर सकते. 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी का जन्म हुआ था और भारत में ये दिन गांधी जयन्ती के नाम से जाना जाता है. यूं तो गांधी जी एक आम इंसान ही थे लेकिन उनके मुंह से निकला हर शब्द जादुई था जो लोगों के जहन में बैठ जाता था.

गांधी जी ने कई मुद्दे पर अपने विचार साझा किया है, गांधी जी का सबसे बड़ा विचार ये था कि वो अहिंसा पर विश्वास रखते थे. गांधी जी का मानना था कि इंसान को कभी भी अपनी बात मनवाने के लिए हिंसा का मार्ग नहीं अपनाना चाहिए बल्कि हमेशा ही अहिंसा के रास्ते पर चलना चाहिए.

बता दें कि गांधी जी ने अपनी आत्मकथा स्वंय लिखी थी जिसमें उन्होंने अपने जीवन में घटने वाली कई घटनाओं और कई राजों से परदा उठाया था. अपनी आत्मकथा में गांधी जी ने अपने पिता की मृत्यु को लेकर भी खुलासा किया था, गांधी जी ने लिखा था कि- ‘जिस समय मेरे पिता मर रहे थे उस समय मैं अपनी पत्नी के साथ सेक्स करने में व्यस्त था’.

गांधी जी शारीरिक संबंध को केवल वासना समझते थे, उनका मानना था पुरूष को अपने कामुकता पर नियंत्रण करना चाहिए और पति और पत्नी को यौन संबंध केवल तब बनाना चाहिए जब उन्हें अपना वंश बढ़ाना हो. गांधी जी ने कहा था कि जब पति अपनी कामुक इच्छा को छोड़ दे तो उसका उसकी पत्नी के साथ आध्यात्मिक रिश्ता बन जाता है.

आपको बता दें कि गांधी जी ने 38 वर्ष की उम्र में ब्रह्मार्च अपना लिया था, जिसके बाद उनका उनकी पत्नी के साथ केवल आध्यात्मिक रिश्ता था. गांधी जी का मानना था कि पति या पत्नी को गर्भ निरोधक जैसी किसी भी वस्तु का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, अगर इंसान ऐसा करने लगेगा तो वो केवल यौन संबंध बनाने के लिए जीएगा, वो नैतिक और दीमागी रूप से बर्बाद हो जाएगा.

NEWS SOURCE (BBC HINDI)