Breaking News
Home / Astrology / सावन के दिनों में इन 10 चीजों में से घर में जरूर लाएं कोई एक चीज, बन जाएंगे सभी बिगड़े हुए काम

सावन के दिनों में इन 10 चीजों में से घर में जरूर लाएं कोई एक चीज, बन जाएंगे सभी बिगड़े हुए काम

सावन का महीना शुरू होते ही लोग भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए पूजा पाठ करना शुरू कर देते हैं. इस बार सावन का पहला सोमवार 30 जुलाई को  शुरू हो चुका है . सावन के सोमवार के दिन लोग शिव मंदिर में जाकर बिल्व पत्र व दूध जल आदि भोलेनाथ को अर्पित करते हैं.  सावन मास के महीने में भगवान शिव के व्रत रखने की परंपरा युगों से चली आ रही है.सावन के दिनों में व्रत व भगवान शिव की कथा के बारे में तो सभी जानते होंगे परंतु क्या कभी किसी ने सुना है कि सावन के दिनों में घर में ये 10 चीजों में से केवल 1 चीज लाने से सभी बिगड़े हुए काम बन जाते हैं.

आइये बताते हैं कौन -कौन सी चीजें हैं वो

 

त्रिशूल :  भगवान शिव की मूर्ति में आपने देखा होगा कि सदैव भोलेनाथ के हाथो में त्रिशूल रहता है. त्रिशूल को तीनों देव तीनों लोकों का प्रतीक माना जाता है.  सावन के पवित्र दिनों में घर में चांदी का त्रिशूल लाने से कभी भी घर में परेशानी प्रवेश नहीं करती है.

 

 

 

डमरू : डमरू शिव का वाद्य यंत्र होता है, इसको घर में रखने से सभी नकारात्मक शक्तियां दूर चली जाती है. कहा जाता है कि इसकी ध्वनि से घर के आसपास मौजूद बुरी शक्तियां दूर होती हैं और सकारात्मकता  का वास होता है. सावन के महीने में बच्चे को डमरू उपहार में देना बेहद ही शुभ माना जाता है.

 

 

 

सर्प :  सांप   भगवान शिव का आभूषण  माना जाता है. सावन के महीने में चांदी का नाग नागिन का जोड़ा लाकर घर में रखें. इसे घर में स्थापित करने के बाद रोजाना इस नाग नागिन के जोड़े की पूजा करें. फिर सावन के अंतिम दिन में नाग नागिन के जोड़े को शिव मंदिर में ले जाकर रख दे. इस उपाय को करने से पितृ दोष और काल सर्प योग से मुक्त होते हैं.

 

चांदी के नंदी :  नंदी भगवान शिव का वाहन माना जाता है. घर में चांदी की नंदी बनवाकर लाएं फिर पूरे सावन मास इनकी पूजा करें. घर में चांदी के नंदी की  पूजा करने से धन से संबंधित परेशानियां दूर होती हैं.

 

 

 

चांदी के बिल्व पत्र :  शिव की पूजा के दौरान बिल्व पत्र चढ़ाना बहुत ही मुख्य माना जाता है. यदि संभव हो सके तो चांदी का बिल्व पत्र घर में  लाकर भगवान शिव को सावन के सोमवार के दिन अर्पित करें. इस उपाय को करने से पापों का नाश होता है और घर में खुशियों का आगमन होता है.